मंगलवार

हि‍मालय क्‍यों डगमगा रहा है

उधर देखो, हि‍मालय क्‍यों डगमगा रहा है
ना कोई भूकंप आया है
ना कि‍सी तूफान में ताकत है
फि‍र क्‍या है
जो इस पहाड़ को हि‍ला रहा है
शायद यह नाराज है
हमने जो खून बहाया है
इसकी गोद में
आतंक का दामन छुपाया है
भारत को चीरा
और पाकि‍स्‍तान को बनाया है
खैर थी इतनी भी
पर हमने दुश्‍मनी को बढ़ाया है
यही वजह है शायद
आज हि‍मालय हि‍लता ही जा रहा है
पहले खीचं डाली सरहद
फि‍र आसमां को बाटां
मां की छाती से बच्‍चे को छीना
मजहब के नाम पर
यह क्‍या गुनाह कि‍या
रास ना आया तभी
अडि‍ग गि‍री डगमगा रहा है
सि‍यासत के गलि‍यारों से
गदंगी की बू आती है
जो अमन के बजाए
कारगि‍ल को लाती है
ना छुपने दो उन फरि‍श्‍तों को
ना झुकने दो उन अरमानों कों
जिन्होने दोस्‍ती का दि‍या जलाया है
वरना देख लो अभी से
हि‍मालय डगमगा रहा है
घर जले थे पंजाब में
तपि‍श है अभी उस आग में
देख लो चाहे तुम
महीने लग जाते हैं पहुचने में
अमृतसर और लाहौ्र के
चन्‍द लम्‍हों के फासले में
ना जाने हश्र क्‍या हो्गा
यह हि‍मालय हि‍लता ही जा रहा है
गलती जो कर दी थी कभी
ना दोहराओ तुम अभी
छा जाने दो खुशी
उन बुझे बुझे से चेहरों पर
जो दो ना पायें हैं जी भर
बि‍छड़े हैं जबसे दि‍ल जि‍गर
कैसे भूल जाते हो
दर्द धरती के स्‍वर्ग का
इंसान हैं वो
जीने का हक उन्हे भी दो
दोस्ती का पैगाम लाऔ
तोड़ डालो मुहं उस तीसरे का
जो हुंकारता है दूर से
और हमारे बीच टागं अड़ाता है
देर ना हो जाए कहीं
क्‍योंकि‍ हि‍मालय डगमगा रहा है
सब रास्‍ते खोल दो
मिटा दो सरहद की जंजीरों को
भारत-पाक चलो उस राह पर
जहां अमन नजर आता है
कहीं एसा ना हो जाए 'ज़ालि‍म'
अपवादों की धरती पे
टूट जाए यह पहाड़

और मि‍टा दे सरहद सदा के लि‍ए
यह हो जाएगा
क्‍योंकि‍ हि‍मालय हि‍लता ही जा रहा है

3 टिप्‍पणियां:

  1. वाह तुम कितना अच्छा लिखते हो,..जालिम क्यूँ लिखते हो खुद को?
    बहुत भावो से ओत-प्रोत रचना है,..
    मिटा दो सरहद की जंजीरों को
    भारत-पाक चलो उस राह पर
    जहां अमन नजर आता है
    कहीं एसा ना हो जाए 'ज़ालि‍म'
    अपवादों की धरती पे
    टूट जाए यह पहाड़
    और मि‍टा दे सरहद सदा के लि‍ए

    एक खूबसूरत संदेश देती है आपकी रचना
    बधाई
    सुनीता(शानू)

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही सुंदर रचना । भावप्रधान और सामयिक ।

    लिखते रहें ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपने बहुत ही खूबसूरत कविता का सृजन किया है। कविता का भाव हृदय को प्रभावित करता है।
    बधाई

    आशा है कि आप सम्‍पर्क बनाऐ रखेगें।

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts with Thumbnails